रबी उल-सानी / रबी उल-आख़िर  का महीना

 

शेख मुफ़ीद ने 232 हिजरी में रबी उल-सानी को ईमाम हसन अल-असकरी (:) की विलादत--'आदत का ज़िक्र किया है, इसलिए यह बहुत बा'बरकत दिन है और इस नेमत का शुकराने में इस दिन रोज़ा रखना मुस्तहब है!

 

2  रबी उल-सानी - विलादत हज़रत सैय्यद अब्दुल अज़ीम हस्सानी 

3 रबी उल-सानी - शहादत हज़रत अबुज़र ग़फ्फारी 

10 रबी उल-सानी - विलादत हज़रत ईमाम हसन असकरी (अ:स)              |             ज़्यारत

10/12 रबी उल-सानी - शहादत हज़रत मासूमा क़ुम (स:अ)                          |             ज़्यारत

13 रबी उल-सानी - शहादत हज़रत फ़ातिमा ज़हरा (स:अ)  (एक रिवायत के मूताबिक़)

वापस होम पेज पर जाएँ